चेन्नई। तमिलनाडु में गुरुवार को मतदान होना होना है। ले‎किन वो‎टिं से पहले आयकर विभाग की टीम ने डीएमके नेता कनिमोझी के घर छापेमारी की । यह छापेमारी देर रात तक जारी रही।

आयकर विभाग को ऐसी सूचना मिली थी कि कनिमोझी के घर में भारी मात्रा में नकदी छुपाकर रखी गई है। छापेमारी के बाद आयकर विभाग को कुछ भी हाथ नहीं लगा। छापेमारी के दौरान डीएमके समर्थकों ने प्रदर्शन किया। आयकर विभाग के सूत्रों ने बताया, ‘स्थानीय प्रशासन की सूचना के बाद आयकर विभाग ने थुटूकुडी (तूतीकोरिन) जिले के कुरिंजी नगर में छापेमारी की कार्रवाई की।

कनिमोझी इस दौरान मौजूद थीं और उन्होंने सहयोग किया। आयकर विभाग को कुछ भी नहीं मिला। तलाशी खत्म हो चुकी है। राज्य सभा सांसद कनिमोझी थुटूकुडी लोकसभा सीट से उम्मीदवार हैं और डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन की बहन हैं। चुनाव से ठीक पहले की गई छामारी को लेकर डीएमके ने केंद्र की भाजपा सरकार पर निशाना साधा है।

एमके स्टालिन ने कहा, तमिलनाडु भाजपा प्रमुख तमिलनाई सुंदरराजन के आवास पर करोड़ों रुपये रखे गए हैं, वहां कोई छापा क्यों नहीं पड़ रहा? मोदी चुनाव में हस्तक्षेप करने के लिए आईटी, सीबीआई, न्यायपालिका और अब चुनाव आयोग का उपयोग कर रहे हैं। वे ऐसा कर रहे हैं, क्योंकि उन्हें अपनी हार का डर सता रहा है।

बता दें कि तमिलनाडु के वेल्लोर लोकसभा सीट पर चुनाव रद्द कर दिया गया है। चुनाव आयोग की सिफारिश के बाद राष्ट्रपति ने इस फैसले को मंजूरी दे दी। वेल्लोर में डीएमके उम्मीदवार और उनके समर्थकों के घर से आयकर विभाग ने 15. 53 करोड़ रुपये बरामद किया था। जिसके बाद चुनाव रद्द करने की सिफारिश की गई थी।

तमिलनाडु की सभी 39 सीटों पर 18 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे। तमिलनाडु में एआईएडीएमके- भाजपा गठबंधन का मुकाबला डीएमके-कांग्रेस के गठबंधन से है। अन्य छोटी-छोटी पार्टियां भी इन दोनों दलों के गठबंधन में शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here