बिहार में टॉपर्स घोटाला-2: जानें कैसे 42 से घटकर 24 हो गई गणेश की उम्र

बिहार बोर्ड एक बार फिर सवालों के घेरे में है. पिछले साल की तरह ही इस बार भी बिहार का इंटर टॉपर घोटाला सामने आया है. 12वीं बोर्ड के आर्ट्स टॉपर गणेश कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है. बिहार बोर्ड ने गणेश कुमार का रिजल्ट भी रोक दिया है. ‘आज तक’ पर खुलासे के बाद आनन-फानन में गणेश कुमार के खिलाफ केस दर्ज किया गया था. मीडिया टेस्ट में फेल हुए गणेश पर आरोप लगा है कि उन्होंने फर्जी तरीके से प्रवेश लिया था.

जानकारी के मुताबिक ‘आज तक’ पर गणेश का इंटरव्यू चलने के बाद उसके दस्तावेजों की जांच की गई, तो उसके बैकग्राउंड के बारे में चौंकाने वाली जानकारियां सामने आईं. पता लगा कि गणेश  के दो बच्चे हैं. एक बच्चा पांचवी क्लास में पढ़ता है और दूसरा तीसरी क्लास में पढ़ता है. दस्तावेजों के मुताबिक गणेश कुमार ने 1990 में मैट्रिक की परीक्षा दी थी और जिसके बाद 2017 में इंटर की परीक्षा दी. जांच में पता चला है कि गणेश कुमार ने गलत जन्म प्रमाण पत्र देकर दाखिला लिया था.

ऐसे 42 से 24 साल के हो गए गणेश
1990 में मैट्रिक का एग्जाम देने वाले गणेश ने 27 साल बाद 24 साल उम्र दिखाकर 12वीं की परीक्षा दी. जबकि जांच में सामने आया है कि अभी उनकी उम्र 42 साल है. 1990 में गणेश कुमार का सही नाम गणेश राम था. पिता का नाम शंकर नाथ राम है. उनकी जन्मतिथि 7 नवंबर, 1975 है. गणेश कुमार ने 1990 में मैट्रिक की परीक्षा सी आर एस स्कूल सरिया गिरिडीह (जो अब झारखंड) में है से दी थी. इसके 25 साल बाद 2015 में गणेश राम ने अपना नाम और जन्मतिथि बदल ली. गणेश ने 2015 में अपनी जन्मतिथि 2 जून 1993 दिखाकर बिहार के समस्तीपुर से मैट्रिक की परीक्षा दी.

कौन है गणेश कुमार
गणेश कुमार झारखंड के गिरीडीह का रहने वाला है, लेकिन इंटर की पढ़ाई करने के लिए वह 250 किलोमीटर दूर बिहार के समस्तीपुर पहुंचा. यहां उसने रामनंदन सिंह जगदीश नारायण कॉलेज में 2015 में दाखिला लिया. उसे इस साल 12वीं के रिजल्‍ट में म्‍यूजिक (प्रेक्टिकल) में 70 में से 65 अंक हासिल हुए हैं. जबकि म्‍यूजिक (थ्‍योरी) में 30 में से 18 अंक मिले हैं. उसे कुल 83 अंक मिले हैं और उसने राज्‍य में म्‍यूजिक में टॉप किया है.

गणेश की तरह पिछले साल भी रूबी राय नाम की लड़की भी मीडिया टेस्ट में फेल हो गई थी, जिसके बाद टॉपर्स घोटाला सामने आया था. रूबी राय पिछले साल की टॉपर घोषित की गई थी. लेकिन ‘आज तक’ के इंटरव्‍यू में वो पॉलिटिकल साइंस को सही तरह से प्रोनाउंस भी नहीं कर सकी थी. जिसके बाद उसके टॉप करने पर सवाल खड़े हो गए थे. जांच में बड़ा घोटाला सामने आया था. तब बिहार आर्ट्स की फर्जी टॉपर रूबी राय ने जांचकर्ताओं के सामने कहा था कि वह सिर्फ पास होना चाहती थी लेकिन उनके पिता ने उन्हें टॉप करवा दिया.

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.