अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विश्व बैंक के अगले अध्यक्ष के तौर पर वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी डेविड माल्पास को नॉ‎मिनेट किया है। अगर विश्व बैंक समूह के निदेशक उनके पक्ष में मतदान करते हैं तो वह विश्व बैंक के अध्यक्ष के तौर पर जिम योंग किम की जगह लेंगे। बता दें ‎कि अमेरिका का वर्चस्व वर्ल्ड बैंक में सबसे अधिक है, इसलिए इस पद पर आम तौर पर अमेरिकी नागरिक ही आसीन होते आए हैं। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के प्रबंध निदेशक का पद यूरोप के लिए है।
विश्व बैंक में विभिन्न देशों के वोट को ध्यान में रखते हुए माल्पास के नाम की पुष्टि महज एक औपचारिकता है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने माल्पास के नामांकन की घोषणा करते हुए उन्हें विशेष व्यक्ति और इस पद के ‎लिए योग्य व्यक्ति बताया है। आपको बता दें कि अंतरराष्ट्रीय मामलों के लिए वित्त अपर सचिव के तौर पर 62 वर्षीय माल्पास अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष और विश्व बैंक का कामकाज देखते हैं। अंतरराष्ट्रीय रूप से प्रख्यात अर्थशास्त्री माल्पास के पास अर्थशास्त्र, वित्त, सरकार और विदेश नीति में 40 साल का अनुभव है। 2016 के चुनाव के दौरान माल्पास डोनाल्ड ट्रंप के आर्थिक सलाहकार के रुप में ‎‎नियुक्त थे।
जॉर्जटाउन यूनिवर्सिटी के प्रतिष्ठित स्कूल ऑफ फॉरेन सर्विस से इंटरनेशनल अर्थशास्त्र में डिग्री लेने के बाद माल्पास ने पूर्व राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन के कार्यकाल में उप सहायक वित्त मंत्री और पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश के कार्यकाल में उप सहायक विदेश मंत्री के पद पर काम किया। माल्पास के नाम की घाेषणा करते हए ट्रंप ने कहा,कि डेविड माल्पास बेहतरीन पसंद हैं। अमेरिकर विश्व बैंक में सबसे अधिक योगदान देता है। वह उसे हर साल एक अरब डॉलर की धनराशि प्रदान करता है। गौरतलब है कि चयन प्रक्रिया में ट्रंप की बेटी और वरिष्ठ राष्ट्रपति सलाहकार इवांका ट्रंप ने म्नुचिन की मदद की थी। इवांका ट्रंप ने कहा कि विश्व बैंक की चुनौतियों और अवसरों के बारे में डेविड की व्यापक जानकारी उन्हें इस महान संस्थान का योग्य प्रबंधक बनाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here