कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राफेल विमान सौदे के मुद्दे पर एक बार ‎फिर से मोदी सरकार को घेरा। राहुल ने इस दौरान गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के साथ हुई मुलाकात पर भी सफाई दी और कहा कि उन्होंने उस मुलाकात में राफेल विमान सौदे की बात नहीं की थी। हालांकि, उन्होंने ये भी कहा कि मनोहर पर्रिकर से मुलाकात का ये मतलब नहीं कि मैं राफेल विमान सौदे का मुद्दा नहीं उठाऊंगा। राहुल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसी पर जवाब दिया। उन्होंने कहा कि मैं मनोहर पर्रिकर से मिला था, लेकिन उस मुलाकात में राफेल विमान सौदे पर कोई बात नहीं हुई थी। उन्होंने कहा कि मैंने बाद में उन्हें जो चिट्ठी लिखी थी, उसमें कहा था कि आपसे मुलाकात का मतलब ये नहीं है कि मैं राफेल मुद्दे पर नरेंद्र मोदी से सवाल नहीं पूछूंगा। बता दें कि 29 जनवरी को राहुल गांधी ने मनोहर पर्रिकर से गोवा विधानसभा में मुलाकात की थी। ये मुलाकात 15 मिनट तक चली थी। इस मुलाकात के बाद राहुल गांधी का बयान आया था कि मैं मनोहर पर्रिकर से मिला, लेकिन राफेल विमान घोटाले में उनका कोई हाथ नहीं है। ये डील सीधे तौर पर नरेंद्र मोदी ने की थी और अनिल अंबानी को इस डील से फायदा पहुंचाया था। राहुल के बयान के बाद मनोहर पर्रिकर ने उन्हें चिट्ठी लिखी थी और शिष्टाचार की मुलाकात का राजनीतिक फायदा उठाने की बात कही थी। पर्रिकर ने लिखा था कि आप अपने राजनीतिक फायदे के लिए मुझसे मिलने आए। मेरे साथ बिताए 5 मिनटों में न तो आपने राफेल का जिक्र किया और ना ही उससे संबंधित किसी अन्य बारे में चर्चा की। हालांकि, इसके जवाब में राहुल गांधी ने चिट्ठी लिख कर कहा था कि मुझे पता है कि आप पर राजनीतिक दबाव है, इसलिए आप जवाब दे रहे हैं। गौरतलब है कि मनोहर पर्रिकर काफी लंबे समय से बीमार हैं और पैंक्रियास कैंसर की एडवांस स्टेज से पीड़ित हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here