एक अध्ययन में खुलासा हुआ है कि कई काम एक साथ करने के लिए पुरुषों को अधिक एनर्जी लगानी पड़ती है। माइंड को ज्यादा एक्टिव करना पड़ता है। वहीं महिलाएं एक साथ कई काम लेती हैं और एक काम के बीच दूसरा कई काम भी निपटा लेती हैं।

ऐसा इसलिए है क्योंकि ऐसा करने में उन्हें ज्यादा ऊर्जा खर्च नहीं करनी पड़ती। महिलाएं पुरुषों के मुकाबले ज्यादा एनरजेटिक होती है। महिलाओं की हमेशा शिकायत रहती है की उनके पास पहनने के लिए कपडे नही हैं जबकि उनके वॉडरोब में जितने भी कपड़े या गहने पड़े होंगे वह केवल एक या दो बार ही पहने जा चुके होंगे।

शोधकर्ताओं के मुताबिक, महिलाओं को नए जन्मे बच्चे की खुशबू बहुत ज्यादा उत्तेजित करती है। यह उत्तेजना किसी भी ड्रग्स के शिकार व्यक्ति के तड़पने के बराबर होती है। पुरुषों के मुकाबले महिलाओं की जीभ ज्यादा तरह के स्वाद चख सकती हैं।

रूस के नेशनल रिसर्च यूनिवर्सिटी हायर स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स के अध्ययनकर्ताओं का ऐसा कहना है। महिलाओं का दिल पुरुषों के दिल का आकर से छोटा होता है जिस वजह से वह ज्यादा तेजी से धडक़ता है। पुरुषों का दिल 180 ग्राम का होता है, महिलाओं का दिल सिर्फ 120 ग्राम का होता है।

महिलाओं की धडक़न पुरुषों के मुकाबले ज्यादा तेज चलती है। जहां पुरुषों में एक मिनट में 70 से 72 बार दिल धडक़ता है, वहीं महिलाओं का दिल एक मिनट में 78 से 82 बार धडक़ता है। महिलाओं की बॉडी क्लॉक पुरुषों के मुकाबले 1।7 से 2।3 घंटे आगे चलती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here